आतंकी हमले में 17 जवान शहीद, 4 आतंकी ढेर

बारामूला। जम्मू-कश्मीर के uri-army-killed_2016918_113935_18_09_2016बारामूला में उरी सेक्टर स्थित सेना मुख्यालय पर हुए आतंकी हमले में 17 जवान शहीद हो गए। वहीं 4 आतंकियों को भी मार गिराया गया है। मारे गए चारों आतंकी पाकिस्‍तान के बताए जा रहे हैं। सेना ने एक आध‍िकारिक बयान में इसकी पुष्टि कर दी है। फिलहाल एक आतंकी के छिपे होने की आशंका है और तलाशी अभियान जारी है।

दो दशक में सेना को आतंकी हमले में बड़ी जनहानि

रक्षा विशेषज्ञों के अनुसार, जनहानि के आधार पर यह हमला बीते दो दशक में काफी बड़ा है। सेना को इस आतंकी हमले में भारी क्षति हुई है।

सेना प्रमुख ने शहीद जवानों को दी श्रद्धांजलि

सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग ने बयान जारी कर हमले में मारे गए जवानों को श्रद्धांजलि दी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रविवार की सुबह हुए इस हमले में आतंकी हमले के कारण वहां लगाए गए अस्थाई टेंट में आग लग गई। इस वजह से इसमें रह रहे जवानों की मौत हुई।

रक्षा मंत्री व सेना प्रमुख पहुंचेंगे उरी

इस बीच खबर है कि हमले के बाद पीएम मोदी ने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को तत्‍काल मौके पर पहुंचने को कहा है। रक्षा मंत्री पर्रिकर के अलावा सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग भी श्रीनगर जाएंगे।

गृहमंत्री ने रद्द किया रूस-अमेरिका का दौरा

हमले के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अपना रूस व अमेरिका का दौरा रद्द करते हुए आपात बैठक बुलाई और साथ ही जम्‍मू-कश्‍मीर की मुख्‍यमंत्री और राज्‍यपाल से भी बात की जिन्‍होंने वहां की स्थिति की जानकारी दी। गृहमंत्री द्वारा दोपहर 12 बजे बैठक बुलाई गई है जिसमें रक्षा मंत्री के अलावा एनएसए अजीत डोभाल व कई अन्‍य अधिकारी भी शामिल होंगे। बता दें कि रविवार सुबह 5.30 बजे सेना के 12 ब्रिगेड मुख्यालय पर आतंकियों ने अंधेरे का फायदा उठाते हुए हमला बोल दिया जिसमें 17 जवान शहीद हुए हैं वहीं 16 घायल हुए हैं। घायलों में से आठ की हालत गंभीर बताई जा रही है जिन्‍हें एयरलिफ्ट कर श्रीनगर ले जाया गया है।

ऐसे हुआ हमला

बताया जा रहा है कि सुबह 5.30 बजे अंधेरे का फायदा उठाते हुए आतंकियों ने संत्री पोस्ट को अपना निशाना बनाया और सेना के हेडक्वार्टर में घुसकर बैरक में शरण ले ली। हमले के बाद सेना के जवानों ने मोर्चा संभाला और आतंकियों को चारों तरफ से घेरकर फायरिंग शुरू कर दी। इस दौरान आतंकियों ने कुछ धमाके भी किए। जिस जगह पर हमला किया गया वहां अस्‍थायी तौर पर जवानों के लिए टैंट लगाए गए थे। आखिरकार देर ना करते हुए ऑपरेशन का जल्‍द से जल्‍द खत्‍म करने के लिए स्‍पेशल फोर्स को लगा दिया गया। चार घंटे से ज्‍यादा चले इस ऑपरेशन में सफलता प्राप्‍त करते हुए सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को ढेर कर दिया।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*