फ़िल्म-जगत के सितारे भी Depression से गुजरते हैं: रवीना टंडन

Stars of film world in passes through depression: Raveena Tandon

फ़िल्म-जगत के सितारे भी Depression से गुजरते हैं: रवीना टंडन

मुंबई। अभिनेत्री रवीना टंडन का कहना है कि आम लोगों की तरह फ़िल्म-जगत के सितारे भी Depression से गुजरते हैं.
ग्लैमर जगत की चमक-दमक भरी दुनिया में भला अवसाद जैसी मनःस्थिति के लिए जगह कहां?
रवीना के मुताबिक़ सफलता के बाद जब असफलता का दौर शुरू होता है तो बड़े-से-बड़े सितारे भी डिप्रेशन में जा सकता है.
मनोचिकित्सक अंजलि छाबरिया द्वारा लिखित किताब ‘डेथ इज नॉट द आंसर’ के विमोचन पर पहुंची रवीना ने कहा कि “फ़िल्मी हस्तियां होने के साथ ही हम एक आम इंसान भी हैं और हमें भी वह दर्द होता है, जो अन्य लोगों को होता है.”
वो कहती हैं, ‘ऐसा नहीं है कि हम सेलिब्रिटी हैं तो हमें ऐसी कोई अनुभूति नहीं होती है.’
महिलाओं के बीच बढ़ रही आत्महत्या की प्रवृति पर चिंता जाहिर करते हुए रवीना कहती हैं कि, “भारत में इस मामले में जो आंकड़े सामने आते हैं, उनमें आत्महत्या करने वाले 10 में से 6 महिलाएं होती है. यह गंभीर मुद्दा है और इसका गंभीरता से समाधान भी किया जाना चाहिए.”
करीब 25 वर्षों से हिंदी सिनेमा का हिस्सा रहीं बॉलीवुड की दिग्गज अभिनेत्री रवीना टंडन का कहना है कि सेलेब्रिटी होना आसान नहीं है. ‘शूल’ और ‘डैम : ए विक्टिम ऑफ मैरिटल वॉयलेंस’ जैसी कई फिल्मों में काम कर चुकीं रवीना ने कहा, ‘सेलेब्रिटी होना सचमुच आसान नहीं है.
हिंदी सिनेमा में बदलाव के बारे में रवीना ने कहा, ‘1990 के दशक में हिंदी सिनेमा में काफी बदलाव हुआ. उस समय तक महिलाओं की बदलती भूमिका दर्शाती कई फिल्में बनी थीं.
-एजेंसी

The post फ़िल्म-जगत के सितारे भी Depression से गुजरते हैं: रवीना टंडन appeared first on Legend News.

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*