आज बोलिए थैंक्यू… Thanks giving Day के पीछे की कहानी काफी दिलचस्प

Thanks giving Dayआज बोलिए थैंक्यू… Thanks giving Day के पीछे की कहानी काफी दिलचस्प है। हम आपको बताते हैं कि थैंक्स गिविंग डे कैसे शुरु हुआ और कैसे एक खास दिन को इसके लिए चुना गया।

अमेरिका में नबंवर के चौथे गुरुवार को थैंक्स गिविंग डे के रुप में मनाया जाता है। इस दिन लोग इकट्ठे होते है और दावतें करते हैं। इस दिन का एक धार्मिक महत्व भी है लोग अपनी समृद्धि के लिए भगवान को धन्यवाद देते हैं। ये उत्सव अमेरिका आने वाले पहले यात्री के सम्मान में मनाया जाता हैं।

आज से शुरू हुआ छुट्टियों का दिन
इस दिन की सबसे खास बात यह है कि इस दिन के बाद से अमेरिका में छुट्टियों का सीजन शुरु होता है। थैंक्यू गिविंग डे की शुरुआत चार सौ साल पहले 1621 में शुरु हुई थी। 1939 में गुरुवार का दिन तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति फ्रैंकलिन डी रूजवेल्ट ने निर्धारित किया था।
इसके बाद 1941 में अमेरिकी कांग्रेस ने इसे अनुमति दे दी। लेकिन बाद में अब्राहम लिंकन ने इसमें संशोधन करते हुए नबंवर का अंतिम गुरुवार तय किया। इसके पीछे यह कारण दिया गया कि किसी-किसी महीने में पांच गुरुवार होते हैं।

जानिए 17 भाषाओं में कैसे बोलते हैं Thank you

अफ्रीकन – dankie
अल्बैनियन – faleminderit
अरैबिक – shukran
बोस्नियन – hvala (HVAH-lah)
डच – dank u
फ्रेंच – merci
जर्मन – danke
हिंदी – धन्यवाद / शुक्रिया
उर्दू – शुक्रिया
सिंधी – मेहरबानी
बंगाली – धोनोबाद
मैथिली – बहुत बहुत धन्यवाद
रसियन- спасибо (spuh-SEE-buh)
स्पैनिश – gracias (GRAH-syahs)
स्वीडिश – tack
तमिल – नांद्री
पंजाबी – शुक्रिया

NOTE: कई भाषाओं को शुक्रिया कहा जाता है पर यहां हर भाषा में बोलने का अंदाज अलग-अलग होता है जिसे शब्दों में नहीं लिखा जा सकता।

The post आज बोलिए थैंक्यू… Thanks giving Day के पीछे की कहानी काफी दिलचस्प appeared first on Legend News.


Source link

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*