हिज़बुल का नया बैच, PoK से 27 तैयार आतंकियों की तस्वीर आई सामने

Hizbul's new batch, photo of 27 ready-made terrorists from the PoK

हिज़बुल का नया बैच, PoK से 27 तैयार आतंकियों की तस्वीर आई सामने

श्रीनगर। न्यूज एजेंसी एएनआई ने ये तस्वीर जारी की है, इसके मुताबिक हिज़बुल ने आतंकियों का नया बैच तैयार कर लिया है। सोर्सेज के मुताबिक पिछले साल 8 जुलाई को सिक्युरिटी फोर्सेज के एक एनकाउंटर में बुरहान वानी के मारे जाने के बाद बड़ी संख्या में कश्मीरी यूथ आतंकी संगठनों में भर्ती हुए हैं।

सब्जार अहमद बट और बुरहान वानी के मारे जाने के बाद भी हिजबुल- मुजाहिदीन में आतंकियों की भर्ती जारी है। एक तस्वीर सामने आई है, जिसमें हिजबुल के 27 नए लड़ाके दिख रहे हैं। तस्वीर को पीओके के मुजफ्फराबाद में चल रहे हिजुबल के ट्रेनिंग कैम्प का बताया गया है। बड़ी संख्या में कश्मीरी यूथ आतंकी संगठनों में भर्ती हुए हैं.

बुरहान का उत्तराधिकारी था सब्जार अहमद बट

सिक्युरिटी फोर्सेस ने 27 मई को पुलवामा जिले के त्राल में एक एनकाउंटर के दौरान हिजबुल आतंकी सब्जार को मार गिराया था। वह बुरहान का उत्तराधिकारी था।

25 साल का सब्जार (बाएं) पिछले साल जुलाई में बुरहान वानी (दाएं) के मारे जाने के बाद से हिजबुल के लिए काम कर रहे कश्मीरी यूथ की अगुआई कर रहा था। ये दोनों ही हिजबुल के आतंकी थे।

सब्जार अहमद बट के मारे जाने के बाद भड़क गई थी हिंसा

सब्जार अहमद बट के मारे जाने के बाद कश्मीर में 50 से ज्यादा जगहों पर हिंसा भड़क गई थी। इसमें 1 सिविलयन की मौत हो गई और 60 से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे। श्रीनगर के 7 थाना एरिया में कर्फ्यू लगा दिया गया। गांदेरबल जिले में भी धारा 144 लगा दी गई। स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए। ट्रेनों की आवाजाही भी रद्द कर दी गई थी। एहतियात के तौर पर घाटी में मोबाइल इंटरनेट सर्विसेज पर भी रोक लगा दी गई।

बुरहान के मारे जाने के बाद भी घाटी 90 दिनों तक लगातार हिंसा की चपेट में रही थी। उस दौरान 90 सिविलियंस की मौत हुई थी, 15 हजार से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे। हिंसा में 2 सिक्युरिटी पर्सनल भी शहीद हुए थे और 4000 से ज्यादा घायल हुए थे।
घाटी में नॉर्मल हो रहे हालात

कश्मीर में अब हालात नॉर्मल हो रहे हैं। सब्जार के मारे जाने के विरोध में अलगावादियों ने हड़ताल शुरू कर दी थी। ऑफिशियल्स के मुताबिक बुधवार सुबह दुकानें, दफ्तर और पेट्रोल पम्प शुरू हो गए। तीन दिनों के बाद पब्लिक ट्रांसपोर्ट भी सड़कों पर नजर आए। हालांकि अनंतनाग, शोपियां, पुलवामा और बडगाम में अभी स्कूल और कॉलेज बंद रखे गए हैं। गांदेरबल और कुपवाड़ा के हायर सेकंडरी स्कूल भी अभी बंद हैं।

प्रीपेड आउटगोइंग कॉल फैसिलिटी मंगलवार रात से शुरू हो गई, हालांकि मोबाइल इंटरनेट सर्विस अभी भी सस्पेंड है।

-एजेंसी


Source link

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*