UN ने सैन्य पर्यवेक्षकों पर भारतीय सेना के हमले का पाकिस्‍तानी दावा झुठलाया

UN rejects Pakistani claim of Indian Army attack on military supervisors

UN ने सैन्य पर्यवेक्षकों पर भारतीय सेना के हमले का पाकिस्‍तानी दावा झुठलाया

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र UN ने पाकिस्तान की सेना के इसदावे को खारिज कर दिया है कि नियंत्रण रेखा के पास भारतीय सैनिकों ने संयुक्त राष्ट्र के सैन्य पर्यवेक्षकों पर हमला किया। संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि पर्यवेक्षकों को निशाना बनाए जाने का ‘कोई साक्ष्य’ मौजूद नहीं है। पाकिस्तान लगातार ऐसी हरकतों की कोशिश कर रहा है जिससे वो भारत को अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के सामने बेइज्जती कर सके, लेकिन हर बार उसी की बेइज्जती हो जाती रही है। इस बार भी यूएन ने उसके एक झूठ से नकाम उठाकर उसकी किरकिरी कर दी है।
संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक ने कहा कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि खंजर सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास भारतीय सेना ने यूएनएमओजीआईपी (भारत एवं पाकिस्तान में संयुक्त राष्ट्र सैन्य पर्यवेक्षक समूह) के वाहन को निशाना बनाया।
डुजारिक ने कहा, ‘मैं आपको यह बता सकता हूं कि भीमबेर जिले में आज दोपहर पाक अधिकृत कश्मीर में पाकिस्तानी सेना के साथ चल रहे यूएनएमओजीआईपी के सैन्य पर्यवेक्षकों ने अपने पास के इलाकों में गोलीबारी की आवाजें सुनीं। इस बात का कोई सबूत नहीं है कि गोलीबारी में यूएनएमओजीआईपी के सैन्य पर्यवेक्षकों को निशाना बनाया गया। संयुक्त राष्ट्र का कोई सैन्य पर्यवेक्षक घायल नहीं हुआ है।’
पाकिस्तानी सैन्य बलों की मीडिया शाखा इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशन्स ने एक बयान में कहा था कि नियंत्रण रेखा के दौरे के दौरान संयुक्त राष्ट्र के सैन्य पर्यवेक्षक समूह के दो अधिकारियों को ले जा रहे वाहन पर भारतीय सैनिकों ने हमला किया।
गौरतलब है कि पाकिस्तान की सेना ने बुधवार को दावा किया है कि भारत ने नियंत्रण रेखा पर संयुक्त राष्ट्र के वाहन में सवार पर्यवेक्षकों पर हमला किया है। संयुक्त राष्ट्र का दल नियंत्रण रेखा के निरीक्षण के लिए गया था। एक बयान जारी कर इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) ने कहा, वाहन में भारत और पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र का सैन्य पर्यवेक्षक दल के सदस्य सवार थे।
आईएसपीआर का कहना है कि दोनों अधिकारी नियंत्रण रेखा पर हालात का जायजा लेने आए थे। पाक सैन्य मीडिया इकाई के मुताबिक उनका वाहन संयुक्त राष्ट्र के ध्वज के साथ चल रहा था। हालांकि दोनों अधिकारी सुरक्षित हैं। हमले के बाद दोनों वाहन से नीचे उतर आए और बाद में वहां से चले गए। 17 मई को पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र से भारत के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी।
-एजेंसी

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*